Flesh Cricket: Dear Ms. Williams

I wrote this piece during one of Sage’s free weekly writing groups, during one of the games we play every week. All the attendees secretly share a random word and Sage reads them off one by one every thirty seconds while write and try to incorporate each one into whatever it is we’re writing. Sometimes nothing comes of it, other times I surprise myself. This is one of those times. Continue reading Flesh Cricket: Dear Ms. Williams

महिलाओं में शक्ति भरने वाली – सेवॉय हाओ

महामारी  के दौरान मैं अपनी दोस्त ‘सेवॉय’ का एक छोटा सा इंटरव्यू लिया | टोरंटो में बहुत सी महिलाऐं जानतीं हैं कि ‘सेवॉय’ ने ही सबसे पहले टोरंटो शहर में महिलाओं के लिए बॉक्सिंग जिम बनाया था| वह केवल एक … Continue reading महिलाओं में शक्ति भरने वाली – सेवॉय हाओ

“आपके बच्चे कब होंगे?”

सेज और मेरी शादी के कुछ दिनों बाद ही कई लोगों द्वारा हमसे सवाल पूछा जाने लगा: “बच्चे कब होंगे?” सभी दोस्त, सभी रिश्तेदार यहाँ तक कि कुछ अजनबी भी हमसे ऐसा पूछ रहे थे | हमारा जवाब होता था … Continue reading “आपके बच्चे कब होंगे?”

‘उदासी’ को छोड़ रहा हूँ, किताबों की सीढ़ियों को चढ़ते हुए|  

मेरी कुछ पुरानी यादों में से एक सबसे पुरानी घटना, जो अब तक मुझे याद है जब मैं तीन साल का था| मैं चम्मच  से मिट्टी में खेल रहा था | तभी एक लड़की आयी, जो मुझे बहुत बड़ी लग … Continue reading ‘उदासी’ को छोड़ रहा हूँ, किताबों की सीढ़ियों को चढ़ते हुए|