“आपके बच्चे कब होंगे?”

सेज और मेरी शादी के कुछ दिनों बाद ही कई लोगों द्वारा हमसे सवाल पूछा जाने लगा: “बच्चे कब होंगे?” सभी दोस्त, सभी रिश्तेदार यहाँ तक कि कुछ अजनबी भी हमसे ऐसा पूछ रहे थे | हमारा जवाब होता था … Continue reading “आपके बच्चे कब होंगे?”

‘उदासी’ को छोड़ रहा हूँ, किताबों की सीढ़ियों को चढ़ते हुए|  

मेरी कुछ पुरानी यादों में से एक सबसे पुरानी घटना, जो अब तक मुझे याद है जब मैं तीन साल का था| मैं चम्मच  से मिट्टी में खेल रहा था | तभी एक लड़की आयी, जो मुझे बहुत बड़ी लग … Continue reading ‘उदासी’ को छोड़ रहा हूँ, किताबों की सीढ़ियों को चढ़ते हुए|  

The Last Normal Day

Today I got curious about what seemed like the last “normal” day for me. When did it become clear that we were entering a new time in history? I went through my photo archive. I started looking in March, because in my mind that’s when it was well and truly different. I remember on March 15th I went out on a scavenger hunt. There was no question that things were already different then. There were hardly any people out on the streets and there was an air of surreality about the city. But I figured that sometime in early March … Continue reading The Last Normal Day

एक सुबह

एक सुबह मैं जल्दी चार बजे उठा | चाँद डूबने के बाद पूरे यर्ट, पूरे जंगल, पूरी दुनिया में अँधेरा है | मैं थोड़ा जल्दी उठ गया हूँ पर अब मैं फिर से नहीं सो सकता | मुझे बेचैनी नहीं … Continue reading एक सुबह

यर्ट बनाना

जब सभी हमारे यर्ट का सामान जंगल में था तब पांच-दस और महिलाएँ वहाँ पहुंची और पार्टी जैसा माहौल बन गया| मेरी दोस्त जिसका नाम ‘क्वे’ था,यर्ट के सभी निर्देशों  को पढ़ रही थी और कुछ महिलाओं को निर्देश दे … Continue reading यर्ट बनाना

मेरे एक नए अध्याय में कुछ महत्वपूर्ण महिलाओं की भूमिका

मेरे जीवन में, सभी अच्छी चीजें मजबूत महिलाओं की मदद से आयी थी | Continue reading मेरे एक नए अध्याय में कुछ महत्वपूर्ण महिलाओं की भूमिका